How do I prevent…?

दम घुटना और प्राणवायु की कमी से साँस रुक जाना

जहाँ सभी शिशु और बच्चे अलग-अलग होते हैं, एक चीज़ है जो उनमें एकसमान होती है - उनका कौतुहल। उन्हें दुनिया में खोजबीन करना बहुत पसंद होता है, खास कर चीज़ों को उठाकर अपने सिर पर या मुँह में या बालों में रखना। सभी मातापिता इस बात की गवाही देंगे कि आपको बस एक पल के लिए पीठ फेरनी है और आपका नन्हा शैतान नीले रंग में रंगा मिलेगा, वह रंग जो आपको निश्चय मालूम है कि आपने अपने स्थान पर रखा था।

जहाँ अधिकतर समय यह स्वाभाविक जिज्ञासा के परिणाम स्वरूप ज्यादा से ज्यादा आपको उसे फिर एक बार नहलाना पड़ेगा, कभी-कभार कोई दर्दनाक समस्या हो सकती है। अगर छोटे बच्चों के गले के आसपास या मुँह पर कोई चीज़ फंस जाए तो उसका तेज़ और विनाशक प्रभाव होता है।

सौभाग्य से, इस तरह की दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है।

 

ऐसा लग सकता है कि पर्दे हानि रहित हैं, लेकिन अगर यह किसी छोटे बच्चे की गरदन के आसपसा फंस जाए, तो उसके लिए यह जानलेवा हो सकते हैं। वास्तव में 2001 से, पर्दों की चक्करदार डोरियाँ यूके में कम से कम 33 मृत्यु का कारण बनी हैं।

इनमें से अधिकतर दुर्घटनाओं में डेढ और दो साल के बीच की आयु के बच्चे शामिल थे, और यह सबसे अधिक सामान्य रूप में बेडरूम में होती हैं - जो वह स्थान भी होता है जिस में उस आयु के बच्चे बिना निगरानी के अपना ज्यादातर समय बिताते हैं।

आप जो सबसे सुरक्षित कार्य करत सकते हैं, वह है ऐसा पर्दा लगाना जिसका डिज़ाइन सुरक्षित हो, यानी कि जिसमें चक्करदार डोरियाँ न हों। अपने नन्हे मुन्नों को सुरक्षित रखने के लिए आप अतिरिक्त कदम उठा सकते हैं:

  • खास कर बच्चों के कमरे में, ऐसे पर्दे चुनें जिनमें डोरियाँ न हों
  • बच्चे का पलंग, बिस्तर, प्लेपेन या हाईचेयर किसी खिड़की के पास न रखें
  • पर्दों पर लगी डोरियों को छोटा रखें, पिनों, कॉर्ड टाइडी, क्लिप या टाई का उपयोग करते हुए उन्हें पहुँच से बाहर रखें
Cord tidy
Cord tidy
Cord cleat
Cord cleat
New cord cleat
New cord cleat
  • कभी भी किसी पर्दे की डोरी न काटें, इससे ना केवल आपका पर्दा काम करना बंद कर देगा, इससे आपके पर्दे अधिक जोखिमकारी भी बन सकते हैं।

हममें से ज्यादातर लोग शॉपिंग बैग, बिन बैग या पार्सल की पैकिंग सामग्री छोटे बच्चों, खास कर किसी भी चीज़ को उठाकर अपने चेहरे लगाने की आदत वाले शिशुओं को होने वाले जोखिमों से अवगत हैं।.

  • बिगड़ी हुई नैपी को फेकने के लिए बेचे जाने वाले नैपी सैक कई छोटे बच्चों के कमरों और चेन्जिंग बैग में दिखाई देते हैं। अक्सर खुश्बू वाले, और कई चमकीले रंगों में होने के कारण यह छोटे बच्चों के लिए विशेष रूप से आकर्षक हैं।
  • दुर्भाग्य से, यह जानलेवा भी हो सकते हैं, कम से कम 17 बच्चों की उनके चेहरे और नाक के नैपी सैक से ढके होने के चलते दम घुटने से या फिर नैपी सैक को मुँह में डालने से दम घुटने से मृत्यु हुई है।
  • फिर एक बार, श्रेष्ठ सलाह है, नैपी सैक का उपयोग बंद करना - यह ना केवल जोखिमकारी हो सकता है, यह पर्यावरण के लिए भी भयावह हैं। अगर आप उनका उपयोग करना जारी रखना चुनें, तो सुनिश्चित करें कि आप:

Nappy Sacks

  • यह करें:
      नैपी सैक, अन्य प्लास्टिक की थैलियों और रेपिंग को शिशुओं और छोटे बच्चों से दूर रखें।
  • यह ना करें::
      नैपी सैक को शिशु के पलंग, प्राम या बगी में रखना।

“मेइसन अपने पलंग में अपने आसपास कुछ नैपी सैक फैले हुए ले कर लेटा हुआ था और एक उसके चेहरे को ढक रहा था।”

Many of us are aware of the risks plastic bags such as shopping bags, bin bags or packing materials from parcels can pose to young children, especially babies who have a tendency to grasp at anything and put it to their face.

Sold to dispose of soiled nappies, nappy sacks are a common sight in many nurseries and changing bags. Often fragranced, and in a range of bright colours, they are especially attractive to young children.

Unfortunately, they can also be deadly, with at least 17 children having suffocated after a nappy sack covered their mouth and nose, or having choked after putting a nappy sack in their mouth.

Again, the best advice is to simply stop using nappy sacks – not only can they be dangerous, they’re also terrible for the environment. If you do choose to carry on using them, make sure that:

Nappy Sacks

Do:
  Always keep nappy sacks, other plastic bags and wrapping away from babies and young children.

Don't:
  Place nappy sacks in a baby’s cot, pram or buggy.

जहाँ पर्दों की रस्सियाँ बहुत जोखिमकारी हैं, वहीं ऐसी कई अन्य घरेलू वस्तुएं हैं जो छोटे बच्चों के गले के आसपास लिपट कर फंस सकती हैं। चूँकि छोटे बच्चों के वायुपथ अब तक पूरी तरह से विकसित नहीं हुए होते हैं, वह बड़े बच्चों की तुलना में अधिक तेज़ी से दम घुटने के जोखिम में होते हैं।

ऐसी कई वस्तुएं हैं जो पर्याप्त लंबी और लवचीक होती हैं और इसलिए जोखिमकारी भी होती हैं; इस सूची में वर्णित चीज़ों के लिए खास सावधान रहें:

  • पलंग या बिस्तर के ऊपर लटके हुए खिलौने या मोबाइल
  • कपड़ों पर नाड़ा
  • रस्सियाँ या बेल्ट
  • डोरी वाले बैग (खास कर ऐसे किसी भी स्थान से बँधे हुए जहाँ पर एक छोटा बच्चा आसानी से डोरी के चक्कर में अपना सिर डाल सके)।
Join the Conversation
Lifeline
Lifeline
Brighter Beginnings Appeal
Brighter Beginnings Appeal
Brighter Beginnings Appeal

Contact Us

General Enquiries
+44 (0)121 248 2000
+44 (0)121 248 2001
[email protected]
Contact Form